Main Menu

पीएम मोदी ने कर्नाटक के भाजपा उम्मीदवारों को दिया जीत का मंत्र, बताया- अपना एजेंडा

पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि पार्टियां विकास पर चर्चा करने से डर रही हैं। जो लोग जाति आधारित राजनीति करते हैं, उनके लिए विकास कोई मुद्दा नहीं है।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नमो ऐप के जरिए कर्नाटक भाजपा के विधानसभा चुनाव के सभी उम्मीदवारों, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से बात की। प्रधानमंत्री ने इस दौरान उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार के मुद्दों को बताया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले राजनीतिक दल विकास के मुद्दे पर राजनीति नहीं करते थे, बल्कि जाति-पंत-धर्म के आधार पर राजनीति करते थे। पीएम ने कहा कि कुछ राजनीतिक दल एक जाति को चुनाव से पहले लॉलीपॉप पकड़ाते हैं और फिर चुनाव में उनका उपयोग करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि हमें सिर्फ विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ना है। आपको इस दौरान चौकन्ना रहना होगा, क्योंकि राजनीतिक पार्टियां भाजपा के खिलाफ झूठ फैला रही है। हमें झूठ से भी लड़ना है और विकास-सच की लड़ाई भी लड़नी है। आज कांग्रेस की वजह से ही राजनीति की गलत छवि बनी है। प्रधानमंत्री ने इस दौरान 4 साल में केंद्र की ओर से कर्नाटक को दी गई मदद के बारे में बताया।

पीएम ने आगे कहा कि बेंगलुरु के नौजवानों ने अपनी उंगली की ताकत से बेंगलुरु का नाम दुनियाभर में रोशन किया है। देश को गरीबी से मुक्ति दिलाने के लिए गरीबों को सशक्त करना होगा। हमारी संगठन शक्ति को पराजित नहीं किया जा सकता। पीएम ने कहा कांग्रेस की भलाई चाहने वालों ने नई चर्चा शुरू की है कि राज्य में त्रिशंकु विधानसभा आएगी, यह मतदाताओं को निराश करने का षड्यंत्र है। पुरुष कार्यकर्ताओं के बराबर ही महिला कार्यकर्ता हों।

पीएम ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपीए के अंतिम 4 वर्ष के कार्यकाल में कर्नाटक को हाईवे निर्माण के लिए 8,700 करोड़ रूपये दिए गए थे जबकि हमारे चार साल के कार्यकाल में कर्नाटक को 27,000 करोड़ रूपये हाईवे निर्माण के लिए दिए गए। भारत के राजनीतिक कल्चर की मुख्य धारा कांग्रेस के कुकर्मों और पाप से भरी हुई है

बता दें कि राज्य में 12 मई को मतदान है और मतगणना 15 मई को होगी। कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार पिछले पांच सालों से वहां सत्ता में है। भाजपा उसे अपदस्थ करके फिर से अपनी सरकार बनाने की जद्दोजहद में है। मोदी का कर्नाटक अभियान एक मई से शुरू होगा। वह राज्य में 15 रैलियां करके लोगों से सीधा संवाद स्थापित करेंगे।

Please follow and like us:





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *