Main Menu

विधान परिषद की 13 सीटों के लिए नामांकन आज, 26 को होंगे मतदान

विधान परिषद

कहा जा रहा है कि विधान परिषद के चुनाव नोर्विरोध हो सकते हैं. अगर ऐसा हुआ तो बीजेपी और सहयोगी दलों के 11 सदस्य निर्विरोध चुने जाएंगे, जबकि विपक्षी दलों के दो सदस्य भी चुने जाएंगे.

उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 13 सीटों पर चुनाव के लिए सोमवार को अधिसूचना जारी की जाएगी. इसके साथ ही नामांकन दाखिल करने का सिलसिला शुरू हो जाएगा. नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 16 अप्रैल है. 17 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 19 अप्रैल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. 26 अप्रैल को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान होगा. उसी शाम 5 बजे से मतगणना शुरू होगी और परिणाम घोषित किए जाएंगे.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, ग्राम्य विकास राज्यमंत्री डॉ महेंद्र सिंह, वक्फ राज्यमंत्री मोहसिन रज़ा और बसपा विधायक दल के नेता सुनील कुमार चित्तौड़ सहित 13 सदस्यों का कार्यकाल 5 मई को समाप्त हो रहा है जबकि अम्बिका चौधरी के इस्तीफे से एक सीट पहले से ही खाली है.

कहा जा रहा है कि विधान परिषद के चुनाव निर्विरोध हो सकते हैं. अगर ऐसा हुआ तो बीजेपी और सहयोगी दलों के 11 सदस्य निर्विरोध चुने जाएंगे, जबकि विपक्षी दलों के दो सदस्य भी चुने जाएंगे.

विधानसभा में बीजेपी के 324, सपा के 47, बसपा के 19, कांग्रेस के 7, रालोद का 1 और 4 निर्दलीय विधायक हैं. जेल में बंद बसपा विधायक मुख़्तार अंसारी और सपा विधायक हरिओम यादव के मताधिकार पर हाईकोर्ट ने रोक लगा रखी है. वहीं, राज्य सभा में क्रॉस वोटिंग के आरोप में बसपा विधायक अनिल सिंह को पार्टी से निलंबित हो चुके है जबकि रालोद ने भी अपने एकलौते विधायक सहेंद्र रामाला को निष्कासित कर दिया है. ऐसे में सपा, बसपा और कांग्रेस के पास 70 विधायकों का वोट है और बीजेपी के पास 311, अपना दल एस के पास 9 और भासपा के चार मत सहित बीजेपी गठबंधन के पास 324 मत हैं.

गौरतलब है विधान परिषद की एक सीट के लिए 29 विधायकों के मतों की आवश्यकता है. बीजेपी को 11 विधायक जिताने के लिए 319 मत चाहिए. जबकि उसके पास 324 मत हैं. सपा, बसपा और कांग्रेस को बाकी बचे दो सदस्यों को जिताने के लिए 58 मतों की आवश्यकता है. उसके पास 70 मत हैं.

Please follow and like us:





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *