Main Menu

जम्मू-कश्मीर में भाजपा ने नहीं महबूबा की असमर्थता से गिरी सरकार: पीडीपी नेता

जम्मू-कश्मीर में भाजपा ने नहीं महबूबा की असमर्थता से गिरी सरकार
Notice: Undefined index: margin_above in /home/ivkindvotekar/public_html/wp-content/plugins/ultimate-social-media-icons/libs/controllers/sfsiocns_OnPosts.php on line 440

Notice: Undefined index: margin_below in /home/ivkindvotekar/public_html/wp-content/plugins/ultimate-social-media-icons/libs/controllers/sfsiocns_OnPosts.php on line 441

पीडीपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री इमरान रजा अंसारी ने पीडीपी-भाजपा गठबंधन के टूटने के लिए पार्टी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा को जिम्मेदार ठहराया है।

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। जम्मू-कश्मीर में लगातार बड़े राजनीतिक असमंजस के बीच पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) में बगावत के सुर तेज होते जा रहे हैं। पीडीपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री इमरान रजा अंसारी ने पीडीपी-भाजपा गठबंधन के टूटने के लिए पार्टी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा को जिम्मेदार ठहराया है।

वह एक असमर्थ मुख्यमंत्री साबित हुई हैं जिन्होंने न सिर्फ रियासत के लोगों को निराश किया है बल्कि अपने पिता के सपनों को भी मिट्टी में मिला दिया है।इमरान अंसारी से पूर्व उनके चाचा आबिद अंसारी ने महबूबा की आलोचना करते हुए संकेत दिया था कि पीडीपी में हालात लगातार बिगड़ रहे हैं।

श्रीनगर में जारी बयान में इमरान ने कहा कि अगर कोई यह कहे कि भाजपा के कारण पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार गिरी है तो गलत होगा। सरकार गिरने के लिए खुद महबूबा जिम्मेदार हैं। वह बतौर मुख्यमंत्री सरकार चलाने में विफल रही हैं। वह एक असमर्थ और अक्षम मुख्यमंत्री थी।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने राज्य में गठबंधन सरकार का हर मोर्चे पर पूरा साथ दिया। भाजपा और केंद्र सरकार के सहयोग से हमारी रियासत में विभिन्न विकास योजनाओं के लिए बड़े पैमाने पर धनराशि जारी हुई है। महबूबा की अक्षमता और नेतृत्वहीनता के कारण ही सरकारी मशीनरी काम नहीं कर पाई।

उन्होंने आरोप लगाया कि पीडीपी-भाजपा सरकार खानदानी ड्रामा बन गई थी जहां भाई, चाचा-ताया, मामा, मौसा और मौसियां ही फैसले लेती नजर आती थी। ऐसे संगठन के साथ रहना न सिर्फ व्यर्थ है बल्कि बेइज्जती है। इसलिए अब मैंने ऐसे दल से जहां वरिष्ठजनों की बात को नकारा जाता है, दूर रहने का फैसला किया है। मैंने संगठन या विधायक पद से इस्तीफा नहीं दिया है।

खैर यह बात जरूर ध्यान में रखनी होगी कि पीडीपी अपनी प्रासंगिकता गंवा चुकी है। ऐसे दल का नेता कहलाना भी औचित्यहीन है। यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने अपनी नाराजगी से महबूबा को अवगत कराया है तो उन्होंने कहा कि जिस संगठन में अराजकता हो, वहां कोई कैसे अपने फैसले पार्टी प्रमुख को बताए। मजहबी नेता हैं अंसारी अंसारी कश्मीर में शिया समुदाय के प्रमुख मजहबी नेताओं में भी गिने जाते हैं। उन्होंने वर्ष 2014 के विधानसभा चुनावों में पट्टन विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीता था।






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *